AePS क्या है? AePS Enabled Payment Service की पूरी जानकारी।

Ashok Nayak
2

AePS क्या है? AePS Enabled Payment Service की पूरी जानकारी।

दोस्तों हम इस ब्लॉग लेख में जानेंगे एईपीएस क्या है? और आधार सक्षम भुगतान प्रणाली का उपयोग कैसे करें? एक साथ हम जानेंगे एईपीएस की सेवा क्या है? और यह हमारे लिए कितना उपयोगी और फायदेमंद है? अगर आप AEPS से संबंधित सभी जानकारी चाहते हैं तो यह लेख आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है।

भारत सरकार ने दूर-दराज के स्थानों तक बैंकों की सुविधा के लिए AePS सेवा बनाई। क्योंकि दूरदराज के इलाकों में बैंक की शाखाएं खोलना थोड़ा मुश्किल होता है। और अगर खोला भी जाता है, तो इसमें काफी खर्च आएगा और काफी समय लगेगा।

इसलिए सरकार ने AePS सुविधा शुरू की क्योकि  इसकी मदद से दूर बैठे लोग आसानी से पैसे भेज और प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा माइक्रो-एटीएम और बैंक मित्र की मदद से बैंक की अन्य वित्तीय सुविधाओं का लाभ उठाया जा सकता है।

आइए जानते हैं कि AEPS हमारे लिए कैसे उपयोगी है।

AePS क्या है? AePS Enabled Payment Service की पूरी जानकारी

Table of content (TOC)

AEPS का फुल फॉर्म क्या है?

AEPS का फुल फॉर्म Aadhaar Enabled Payment System” होता है जिसे hindi में आधार सक्षम भुगतान प्रणाली“है। किसका भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) विकसित किया गया है।

AEPS क्या है?

आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (AEPS) “भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम” (NPCI) और उसके सहयोगी बैंकों द्वारा विकसित एक भुगतान सेवा है। आधार नंबर, फ़िंगरप्रिंट और आई स्कैन की सहायता से इसे सत्यापित करके बिक्री का स्थान (पीओएस) या माइक्रो-एटीएम के माध्यम से वित्तीय लेनदेन करने की अनुमति देता है।

यह चार प्रमुख प्रकार की बैंकिंग सेवाओं की अनुमति देता है। जैसे बैंक बैलेंस पूछताछ, नकद जमा, नकद निकासी और आधार से आधार फंड ट्रांसफर।

आप भारत के किसी भी दूरस्थ क्षेत्र में स्थित बैंक अधिकृत खुदरा विक्रेताओं से इस सेवा का लाभ उठा सकते हैं। यह एक बहुत ही सुरक्षित और आसान प्रक्रिया है।

AePS सेवाएं क्या हैं?

आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) वर्तमान में निम्नलिखित सेवाएं प्रदान कर रही है।

  • बकाया राशी की जांच
  • नकद निकासी
  • नकद जमा
  • मिनी स्टेटमेंट
  • आधार से आधार बैंक ट्रांसफर
  • मोबाइल नंबर अपडेट
  • बेस्ट फिंगर डिटेक्शन

AePS के माध्यम से आप उपरोक्त सभी सुविधाओं को मिनटों में आसानी से कर सकते हैं।


AePS का क्या फायदा है?

एप्स के मुख्य लाभ इस प्रकार हैं।

  • वित्तीय लेनदेन करने के लिए आपको डेबिट कार्ड, बैंक विवरण की आवश्यकता नहीं है। आपको बस आधार कार्ड चाहिए।
  • AePS एक सुरक्षित और आसान प्रणाली है। जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति आर्थिक लेन-देन कर सकता है।
  • AePS के माध्यम से एक बैंक से दूसरे बैंक में वित्तीय लेनदेन किया जा सकता है।
  • जहां बैंक की सुविधा उपलब्ध नहीं है, वहां आप पीओएस मशीन (माइक्रो-एटीएम) के माध्यम से लेनदेन कर सकते हैं।
  • किसी भी वित्तीय लेनदेन को करने के लिए फ़िंगरप्रिंट या आईरिस पहचान की आवश्यकता होती है। इसलिए यह एक सुरक्षित और विश्वसनीय प्रणाली है।
  • घर बैठे बैंकिंग सेवा का लाभ।
  • AePS की सुविधा फ्री है, लेकिन कुछ बैंक इसके लिए चार्ज करते हैं, आप बैंक मित्र से अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • वित्तीय लेनदेन के लिए आपको बैंक जाने की आवश्यकता नहीं है। आप अपने क्षेत्र में स्थित एईपीएस खुदरा काउंटरों से बैंक लेनदेन कर सकते हैं।

AePS का उपयोग कैसे करें?

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया है कि यह एक बहुत ही सरल और सुरक्षित सिस्टम है। इसका उपयोग करने के लिए आपको बहुत शिक्षित होने की आवश्यकता नहीं है। एईपीएस का उपयोग करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें।

  • वित्तीय लेनदेन करने के लिए अपने क्षेत्र में स्थित बैंक मित्र पर जाएँ।
  • प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन में अपना 12 अंकों का आधार नंबर दर्ज करें।
  • अपने लेन-देन के प्रकार का चयन करें। (जैसे – नकद जमा, नकद निकासी, फंड ट्रांसफर, बैलेंस पूछताछ, मिनी स्टेटमेंट)
  • बैंक का चयन करें।
  • नकद निकासी के लिए राशि दर्ज करें।
  • अपने बायोमेट्रिक (फिंगरप्रिंट/आइरिस स्कैन) का उपयोग करके लेनदेन को सत्यापित करें।
  • सत्यापित करने के बाद आपका लेनदेन कुछ ही सेकंड में पूरा हो जाएगा।
  • इसके बाद आपको बैंक मित्र द्वारा वित्तीय लेनदेन की रसीद दी जाएगी।

AePS फंड ट्रांसफर लिमिट क्या है?

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने AePS के साथ वित्तीय लेनदेन करने की कोई सीमा तय नहीं की है। लेकिन कुछ बैंकों ने भुगतान प्रणाली के दुरुपयोग को रोकने के लिए AEPS द्वारा किए गए लेनदेन को रोक दिया है। यदि कोई हो। और कुछ बैंकों ने प्रति दिन 50000/- रुपये की अधिकतम लेनदेन सीमा तय की है।

AePS का उपयोग करते समय ध्यान रखने योग्य बातें।

AePS सर्विस का इस्तेमाल करने के लिए आपको निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • आपका आधार नंबर आपके बैंक खाते से जुड़ा होना चाहिए।
  • एईपीएस का उपयोग करने के लिए किसी ओटीपी या पिन की आवश्यकता नहीं है।
  • AePS के माध्यम से आप केवल उस बैंक खाते के बीच लेन-देन कर सकते हैं जिससे आधार जुड़ा हुआ है।
  • AEPS लाभ प्राप्त करने के लिए एक से अधिक बैंकों को आधार से जोड़ा जा सकता है। लेकिन इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए प्रति बैंक केवल एक बैंक खाते का उपयोग किया जा सकता है।
  • यदि आपके एक ही बैंक में कई खाते हैं, तो केवल प्राथमिक बैंक खाते का उपयोग एईपीएस के अनुसार किया जाएगा।


आधार सक्षम भुगतान प्रणाली के लिए अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न हिंदी में

एईपीएस कितना सुरक्षित है?

यह पूरी तरह से सुरक्षित है क्योंकि किसी भी वित्तीय लेनदेन के लिए आधार प्रमाणीकरण आवश्यक है। इसके अलावा, AEPS के माध्यम से लेनदेन करते समय आपके बैंक से संबंधित किसी जानकारी की आवश्यकता नहीं होती है।

एईपीएस क्या है?

आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (AEPS) “भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम” (NPCI) और उसके सहयोगी बैंकों द्वारा विकसित एक भुगतान सेवा है। आधार नंबर, फ़िंगरप्रिंट और आई स्कैन की सहायता से इसे सत्यापित करके बिक्री का स्थान (पीओएस) या माइक्रो-एटीएम के माध्यम से वित्तीय लेनदेन करने की अनुमति देता है।

एईपीएस का फुल फॉर्म क्या है?

AEPS का फुल फॉर्म Aadhaar Enabled Payment System” होता है जिसे hindi में आधार सक्षम भुगतान प्रणाली“है।

यदि बैंक मित्र स्थान पर बैंक द्वारा लेन-देन अस्वीकार कर दिया जाता है या गलत तरीके से डेबिट/क्रेडिट किया जाता है तो मैं क्या कर सकता हूं?

ऐसी स्थिति में व्यक्ति को उस बैंक में जाना चाहिए जहां उसका खाता है अर्थात जारीकर्ता बैंक की निकटतम शाखा है।

निष्कर्ष: आधार सक्षम भुगतान प्रणाली क्या है?

मुझे आशा है कि आप लोग एईपीएस क्या है? आधार सक्षम भुगतान प्रणाली कैसे काम करती है? के बारे में पूरी जानकारी दी गई है। और मैं आशा आधार सक्षम भुगतान प्रणाली के फायदे और हानि आप बहुत अच्छे से समझ गए होंगे।

आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी एईपीएस क्या है? आधार सक्षम भुगतान प्रणाली कैसे काम करती है? पूरी जानकारी हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं। इसके अलावा अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। मैं आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करूंगा।

तो दोस्तों आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी! शेयरिंग बटन पोस्ट के नीचे इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें। इसके अलावा अगर बीच में कोई परेशानी हो तो कमेंट बॉक्स में पूछने में संकोच न करें। आपकी सहायता कर हमें खुशी होगी। हम इससे जुड़े और भी पोस्ट लिखते रहेंगे। तो अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर हमारे ब्लॉग “ASHOK BANJARA” को बुकमार्क (Ctrl + D) करना न भूलें और अपने ईमेल में सभी पोस्ट प्राप्त करने के लिए हमें अभी सब्सक्राइब करें। 

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। आप इसे व्हाट्सएप, फेसबुक या ट्विटर जैसी सोशल नेटवर्किंग साइटों पर साझा करके अधिक लोगों तक पहुंचने में हमारी सहायता कर सकते हैं। शुक्रिया!

Post a Comment

2 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
  1. We get a lot of information in the website ashok banjara.in created by you, thank you very much for this

    ReplyDelete
Post a Comment
ads code
ads code
ads code
Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !